BKBIET में सेमीकंडक्टर उत्कृष्टता पर 6 दिवसीय अटल-संकाय विकास कार्यक्रम का समापन

Edited By Afjal Khan, Updated: 11 Dec, 2023 11:50 AM

atal faculty development program on semiconductor excellence concludes at bkbiet

बी.के.बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग की ओर से SICTE प्रायोजित अटल-संकाय विकास कार्यक्रम (एफडीपी) का समापन समारोह आयोजित किया गया। समारोह का आयोजन "सेमीकंडक्टर उत्कृष्टता-अनावरण डिजाइन और विकास...

पिलानी । बी.के.बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग की ओर से SICTE प्रायोजित अटल-संकाय विकास कार्यक्रम (एफडीपी) का समापन समारोह आयोजित किया गया। समारोह का आयोजन "सेमीकंडक्टर उत्कृष्टता-अनावरण डिजाइन और विकास (SEDD)" विषय पर किया गया । समापन समारोह के मुख्य अतिथि के रूप में डॉ.महेश कुमार एसोसिएट प्रोफेसर, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान,जोधपुर शामिल हुए । जबकि विशिष्ट अतिथि के रूप में पिलानी BKBIET निदेशक डॉ.एस एम प्रसन्न कुमार और अन्य अतिथि के तौर पर जीएम कमर्शियल केके पारीक और प्राचार्य डॉ. अनिल कुमार शर्मा कार्यक्रम में मौजूद रहे। यह सेमीकंडक्टर उत्कृष्टता-अनावरण डिजाइन और विकास प्रौद्योगिकी में संकाय विशेषज्ञता को बढ़ाने के लिए एक रणनीतिक पहल थी । 

इस दौरान एफडीपी समन्वयक राजेश सिंह शेखावत ने बताया कि इस 6 दिवसीय संकाय विकास कार्यक्रम के अंतर्गत बिट्स पिलानी के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. अर्नब हाजरा ने एफईटी पर आधारित उन्नत सामग्री पर, सीरी पिलानी के वैज्ञानिक डॉ. सुचंदन पाल ने अर्धचालक और फोटोनिक उपकरणों के डिजाइन, निर्माण और लक्षण वर्णन पर, बिट्स पिलानी के डॉ.उपेन्द्र मोहन भट्ट ने चार्ज ट्रैप आधारित 3 डी नैन्ड फ्लैश मेमोरी पर, बिट्स पिलानी सहायक प्रोफेसर डॉ. सत्येन्द्र कुमार मौर्य ने आईसी निर्माण प्रक्रिया के संख्यात्मक मॉडलिंग में अवसर और चुनौतियाँ पर, एमडीयू रोहतक  की सहायक प्रोफेसर  डॉ. नेहा खुराना ने सॉफ्ट कंप्यूटिंग एआई पर, बिट्स पिलानी के प्रोफेसर और प्रमुख डॉ नवनीत गुप्ता ने 2डी सामग्री आधारित लचीले इलेक्ट्रॉनिक उपकरण पर, सीरी पिलानी के प्रधान वैज्ञानिक डॉ. जितेंद्र सिंह ने सेमीकंडक्टर माइक्रोसिस्टम्स: डिजाइन, निर्माण, लक्षण वर्णन और पैकेजिंग पर, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान,जोधपुर के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. महेश कुमार ने 2डी सामग्री ने पानी की निगरानी के लिए भारी धातु आयनों का पता लगाने के लिए एएल जीएएन ट्रांजिस्टर को क्रियाशील पर सत्र लिया।

वहीं इस कार्यक्रम में तकनीकी समिति में अनिल कुमार, नारायण कुमार, सुरेश कुमार, मक्खन लाल और छात्र समन्वयक सचिन, नितिन जांगिड़, रवि राज सैनी और करण चौधरी थे । साथ ही कार्यक्रम के अंत में मुख्य अतिथि,संस्था निदेशक, जीएम कमर्शियल और संस्था प्राचार्य की ओर से सभी कार्यक्रम के प्रभारियों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया।

Related Story

Trending Topics

India

397/4

50.0

New Zealand

327/10

48.5

India win by 70 runs

RR 7.94
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!